SIP क्या है और कैसे काम करता है? SIP की विशेषताएं-2020

0
52

Hello Friends Welcome to Digital GuruJi

SIP क्या है और कैसे काम करता है? SIP की विशेषताएं

SIP के बारे में तो आपने खूब सुना होगा। टीवी, Newspaper और hoardings पर इसके खूब गुण गाए जाते हैं। ऐसे लगता है कि एसआईपी में पैसा लगा दिया तो बस ये दुगना,चौगुना बढ़ जाएगा। क्या सचमुच में ऐसा होता है?  इस post में हम जानेंगे कि आखिर SIP क्या है और How it Works

एसआईपी का अर्थ और फुल फॉर्म | Meaning of SIP and Full Form

SIP का full form है सिस्टेमैटिक इन्वेस्टेमेंट प्लान (Systematic Investment Plan)। SIP का फुल फॉर्म जानने के बाद आप इस निवेश के तरीकों को थोड़ा तो समझ गए होंगे। सिस्टेमैटिक यानी तरीके से निवेश करना।

SIP म्यूचुअल फंड फंड में पैसा लगाने का एक smart method है। इस तरीके में आप एक fixed amount को तय समय के अंतर में लगाते रहते हैं। जैसे पांच हजार रुपए का investment हर महीने की पांच तारीख को। हालांकि ये plan monthly के अलावा weekly, daily और quarterly पैसा लगाने की भी सुविधा देता है। लेकिन हम सब महीने में salary पाते हैं इसलिए मासिक SIP ही ज्यादा होता है।

तो SIP, म्यूचुअल फंड फंड में पैसा लगाने का एक समझदारी भरा तरीका है क्योंकि इससे saving की habit पड़ती है और बड़ी आसानी से एक बड़ा fund तैयार हो जाता है।

SIP(एसआईपी) कैसे काम करता है?

SIP ने mutual fund में निवेश को आसान कर दिया है। क्योंकि अब सिर्फ एक बार की कोशिश से हर महीने म्यूचुअल फंड फंड स्कीम में investment होता जाता है। अब देखते हैं की ये काम कैसे करता है।

    1. SIP के जरिए निवेश करने के लिए आपको म्युचअल फंड में investment का form भरना होगा।
    2. फॉर्म में आप निवेश के method के तौर पर एसआईपी का चुनाव करें।
    3. उसी फॉर्म में आपको auto-debt का mandate देना होगा । इससे आपके खाते से तय रकम हर महीने अपने आप कट जाएगी।
    4. फॉर्म जमा करने के बाद म्यूचुअल(Mutual) फंड कंपनी तय तारीख को रकम आपके खाते account से निकाल लेगी।
    5. इस amount का इस्तेमाल mutual fund scheme की units खरीदने में किया जाएगा। म्यूचुअल फंड फंड यूनिट को उस दिन के price पर खरीदा जाएगा।
    6. चूंकि म्यूचुअल फंड फंड unit का भाव हर दिन बदलता रहा है इसलिए कभी आपको एक यूनिट सस्ते में मिलेगी तो कभी महंगे में। जब ये सस्ते में मिलेगी तो यनिट की संख्या ज्यादा होगी। unit costly होगी तो इसकी संख्या कम हो जाएगी।
    7. इस तरह आपको अलग-अलग भाव पर में mutual fund unit मिलती रहेगी।

Rupee-Cost Averaging

SIP की सबसे खास बात है  Rupee cost averaging. यानी औसत भाव पर म्यूचुअल फंड फंड यूनिट्स की खरीदारी। दरअसल इसी फंडे की वजह से SIP को निवेश का safe method माना जाता है। क्योंकि आप बहुत ऊंचे भाव पर म्यूचुअल फंड खरीदने से बच जाएंगे।

जैसा कि मैंने आपको बताया था कि SIP में आपको म्यूचुअल फंड की यूनिट्स अलग-अलग भाव(rate) पर मिलती है। ये कभी महंगी होती है तो कभी ये सस्ती। जब ये सस्ती होती है तो आपको म्यूचुअल फंड फंड की ज्यादा यूनिट मिलती हैं लेकिन जब ये महंगी हो जाती हैं units कम मिलती है। चूंकि आप हर price पर units खरीदते हैं इसलिए आपके लिए mutual fund unit  का average price ना तो बहुत ज्यादा होता है ना बहुत कम।

इस तरह SIP की वजह से औसत भाव पर म्यूचुअल फंड फंड यूनिट्स पाने को Rupee Cost Averaging कहते हैं। इसके चलते आपको शेयर बाजार का सही समय पकड़ने (Timing) की जरूरत नहीं होती है।

SIP एसआईपी की विशेषताएं

एसआईपी को समझना है तो रिकरिंग डिपॉजिट (recurring deposit) का ख्याल कीजिए। क्योंकि उसमे में इसी तरह एक fixed amount निश्चित अंतराल पर जमा करनी होती है। हालांकि रिकरिंग डिपॉजिट में interest rate भी फिक्स होती है। आइए जानते हैं एसाआईपी के features के बारे में।

आप हर महीने small amount का निवेश कर सकते हैं।

  • एक साल से ऊपर किसी भी period के लिए SIP कराया जा सकता है।
  • इसमें निवेश(Invest) की रकम पहले से ही तय हो जाती है। इसमें बदलाव नहीं होता है।
  • हर महीने के तय तारीख को mutual fund companies आपके खाते से निश्चित रकम निकाल लेती हैं।
  • खाते से पैसा निकालने और म्यूचुअल फंड फंड यूनिट खरीदने का process automatic है।
  • चूंकि ये सिर्फ investment method है इसलिए हर महीने की किस्त अपने आप में एक अलग निवेश है।

इस पोस्ट में हमने आपको एसआईपी का मतलब और इसके features बताए हैं। आगे हम आपको एसआईपी के प्रकार और बेस्ट SIP के बारे में बताएंगे। आते रहिए। पढ़ते रहिए।

Note-Agar Appko hamari ye post Pasand Aayi to Comment Box mai Comment kr ke Mujhe Jarur  btaye or Appka koi Doubt yaa Question ho to Comment kr skte hai.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here